ननकाना साहिब पर हमले के खिलाफ भारत में भड़का आक्रोश, पाक जाएगा SGPC डेलिगेशन


नई दिल्ली


पाकिस्तान में गुरु नानक जन्मस्थली ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले के बाद भारत में इसके खिलाफ हर ओर आक्रोश है। बीजेपी, कांग्रेस, अकाली दल ने शनिवार को दिल्ली में पाकिस्तानी उच्चायोग के सामने प्रदर्शन किया तो देश के अलग-अलग हिस्सों में सिख समुदाय के लोगों सड़कों पर उतरकर गुस्सा जाहिर किया। इस बीच सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने 4 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल को पाकिस्तान भेजने का फैसला किया है।


ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर शुक्रवार को भीड़ ने हमला किया था, जिसके बाद सिख श्रद्धालु गुरुद्वारे के अंदर फंस गए। सोशल मीडिया पर प्रसारित विडियो में दिख रही भीड़ ने अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ सांप्रदायिक और घृणित नारे लगाए और धर्मस्थल पर पथराव किया। पाकिस्तानी सूत्रों का कहना है कि भीड़ का नेतृत्व मोहम्मद हसन के परिवार ने किया था, जिसने एक सिख लड़की जगजीत कौर का अपहरण और धर्म परिवर्तन किया था।


दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति (डीएसएमजी) और शिरोमणि अकाली दल के सदस्यों ने पाकिस्तानी उच्चायोग के पास प्रदर्शन किया। डीएसएमजी और अकाली दल के सदस्यों ने दोपहर 1 बजे चाणक्यपुरी स्थित पाक उच्चायोग के पास प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी पाकिस्तान और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ नारे लगा रहे थे। सिख समुदाय के सदस्यों ने पाकिस्तान उच्चायोग में एक ज्ञापन भी सौंपा है।


बीजेपी कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन


बीजेपी कार्यकर्ताओं ने भी पाकिस्तान के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' के नारे लगाते हुए बढ़ रहे थे। पाकिस्तानी उच्चायोग की ओर जा रहे प्रदर्शनकारियों को चाणक्यपुरी पुलिस स्टेशन के पास रोक दिया गया।

कांग्रेस ने जाहिर किया आक्रोश


कांग्रेस की युवा इकाई और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी (डीपीसीसी) के कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर भीड़ द्वारा कथित पथराव और नारेबाजी की घटना के खिलाफ शनिवार को यहां पाकिस्तानी उच्चायोग के निकट प्रदर्शन किया। भारतीय युवा कांग्रेस और दिल्ली कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' और 'इमरान खान मुर्दाबाद' के नारे लगाए।


4 सदस्यों को पाकिस्तान भेजेगा SGPC


शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (SGPC) ने 4 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल को स्थिति का जायजा लेने के लिए पाकिस्तान भेजने का फैसला किया है। गुरुद्वारा जन्मस्थान पर भीड़ के हमले की निंदा करते हुए SGPC चीफ गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने पाकिस्तान से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। लोंगोवाल ने कहा, 'हम गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमले की कड़ी निंदा करते हैं और पाकिस्तान सरकार से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं। वहां रहने वाले सिखों की सुरक्षा भी सुनिश्चित होनी चाहिए।'

उन्होंने कहा, 'हम वहां स्थिति का जायजा लेने के लिए 4 सदस्यीय एक प्रतिनिधिमंडल को भेजेंगे।' उन्होंने यह भी कहा कि प्रतिनिधिमंडल वहां सिख परिवारों से भी मिलेगा। पाकिस्तान के पंजाब के गवर्नर और मुख्यमंत्री से भी मुलाकात की जाएगी। लोंगोवाल ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल में राजिंदर सिंह मेहता, रूप सिंह, सुरजीत सिंह और राजिंदर सिंह होंगे। उन्होंने कहा, 'हमने गुरुद्वारा ननकाना साहिब प्रबंधक कमिटी से बात की है। उन्होंने बताया कि अब स्थिति सामान्य है।'