लंबी खींचतान के बाद उद्धव सरकार में विभागों का बंटवारा, अहम मंत्रालय एनसीपी-कांग्रेस के पास


मुंबई


महाराष्ट्र में लंबी खींचतान के बाद उद्धव सरकार ने मंत्रिमंडल विस्तार के बाद विभागों का बंटवारा कर दिया है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इसे मंजूरी भी दे दी है। हालांकि शिवसेना के भीतर घमासान अभी भी जारी है। शिवसेना के कई दिग्गज नेता विभाग के बंटवारे से खुश नहीं हैं। करीब दर्जन भर विधायकों ने अपनी असंतुष्टि जाहिर की है। शिवसेना के इन नेताओं का मानना है कि उन्हें कम ओहदे वाले विभाग मिले हैं, जबकि अच्छे विभाग एनसीपी और कांग्रेस के पास चले गए हैं। बता दें कि गृह, वित्त, रेवेन्यू, हाउसिंग, पब्लिक वर्क और वाटर रिसोर्स जैसे महत्वपूर्ण विभाग एनसीपी और कांग्रेस के पास गए हैं।


सरकार बनने और मंत्रिमंडल विस्तार के बाद महा अघाड़ी के तीनों दलों के बीच लंबी बातचीत के बाद सरकार के विभाग बांटे गए हैं। उद्धव सरकार में एनसीपी के नेता अनिल देशमुख को गृह मंत्रालय और अजित पवार को वित्त मंत्रालय दिया गया है। इसके अलावा शिवसेना के नेता और उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को पर्यटन और पर्यावरण मंत्रालय दिया गया है।


इन्हें मिला यह विभाग


एनसीपी के नेता अनिल देशमुख को गृह मंत्रालय और अजित पवार को वित्त मंत्रालय दिया गया है। इसके अलावा शिवसेना के नेता और उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को पर्यटन और पर्यावरण मंत्रालय दिया गया है। नए मंत्री बनाए गए पूर्व सीएम अशोक चव्हाण को उद्धव ठाकरे सरकार में शहरी विकास मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। इसके साथ ही कांग्रेस के नेता बालासाहेब थोराट को राजस्व मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। खास बात यह की गृह मंत्रालय समेत तमाम बड़े मंत्रालय एनसीपी को दिए गए हैं।


शिवसेना विधायक खुश नहीं


इस बंटवारे से शिवसेना विधायक खुश नहीं हैं। करीब दर्जनभर शिवसेना विधायक मंत्रिमंडल पद नहीं मिलने से नाराज हैं। वहीं, कई विधायकों ने कम ओहदे के कारण आपत्ति जताई है। दरअसल, शिवसेना के कुल 14 मंत्री बनाए गए हैं। इनमें से 3 के पास स्वतंत्र प्रभार है, वहीं आदित्य ठाकरे को पर्यावरण मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।


पूर्व सरकार में मंत्री रहे शिवसेना नेता दिवाकर रावते, रामदास कदम, रवींद्र वायकर, दीपक केसरकर को भी इस बार मौका नहीं मिला है। इस वजह से इनकी नाराजगी भी देखी जा रही है। इसके अलावा प्रताप सरनाईक, प्रकाश अबिटकर और आशीष जायसवाल भी नाराज बताए जा रहे हैं।