विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश का योगी पर हमला- कहा था अपराधियों को ठोक देंगे, लेकिन बेटी को नहीं बचा पाए


लखनऊ


उन्नाव में रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे समाजवादी पार्टी (एसपी) प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि पीड़िता की मौत की जिम्मेदार योगी सरकार है। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के राज में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ा है। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए हैं। बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी में राजनीति तेज हो गई है। एक ओर अखिलेश यादव विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे हैं। दूसरी ओर लखनऊ दौरे पर आईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उन्नाव रवाना हो गई हैं। प्रियंका उन्नाव में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करेंगी।


अखिलेश ने उन्नाव रेप केस में सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा, 'इसी विधानसभा में मुख्यमंत्री ने कहा था कि अपराधियों को ठोक दिया जाएगा। यह भाषा थी लेकिन एक बेटी की जान नहीं बचा सके।'अखिलेश ने आगे कहा, 'जब तक उत्तर प्रदेश के सीएम, गृह सचिव और डीजीपी इस्तीफा नहीं देंगे, न्याय नहीं होगा। उन्नाव रेप केस को लेकर कल सभी जिलों में पार्टी की ओर से शोकसभा आयोजित की जाएगी।' अखिलेश ने कहा, 'जिन पर आरोप हैं वे बीजेपी से जुड़े लोग हैं इसलिए न्याय नहीं मिला। आज के युग में इस तरह की घटनाएं होंगी क्या, किसी को जिंदा जला दिया जाएगा।


अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए कहा, 'उन्नाव की घटना बहुत दुखद है इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। यह एक काला दिन है। वह मरना नहीं चाहती थी, लेकिन वह जिंदा नहीं बच पाई। इस तरह की घटना इस बीजेपी सरकार में पहली बार नहीं हुई है। इससे पहले भी उन्नाव की बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी, तब जाकर उसकी एफआईआर दर्ज हुई। बाराबंकी की बेटी ने भी इसी मुख्यमंत्री आवास के बाहर आग लगाई थी। वह बच नहीं पाई। एक ने पूरा परिवार खो दिया, जिस बेटी की जान आज गई उसकी दोषी बीजेपी सरकार है।'


पीड़ित ने देर रात दम तोड़ा 
90% झुलसी उन्नाव की दुष्कर्म पीड़ित ने शुक्रवार रात 11.40 बजे कार्डियक अरेस्ट के बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। 5 दिसंबर की देर शाम उसे एयरलिफ्ट कर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था। जमानत पर छूटे दुष्कर्म के आरोपियों ने गुरुवार तड़के उसे जलाया दिया था।