वात्सल्य संस्था द्वारा खंड विकास अधिकारी के सहयोग से ओडीएफ क्लीनिक का आयोजन किया गया

मुकेश कुमार 


माल (लखनऊ)


खुले में शौच मुक्त हो चुके ग्राम पंचायतों में लोगों में नियमित लगातार हर बार शौचालय के प्रयोग की आदत डालने और साफ-सुथरा बनाए रखने की जागरूकता हेतु वात्सल्य संस्था के द्वारा खंड विकास अधिकारी माल के सहयोग से विकासखंड माल में 10 ग्राम पंचायतों में दिनांक 27 नवंबर से 11 दिसंबर तक ओडीएफ क्लीनिक का आयोजन किया जा रहा है |



(फोटो- वात्सल्य संस्था द्वारा खंड विकास अधिकारी के सहयोग से ओडीएफ क्लीनिक का आयोजन किया गया)


इसके माध्यम से शौचालय के प्रयोग करने पर्यावरण स्वच्छता से संबंधित तकनीकी गुणवत्ता एवं व्यवहार परिवर्तन शौचालय में तकनीकी खामियों को दूर करने जैसे मुद्दों पर परामर्श सेवा उपलब्ध कराई जा रही है तैयार कार योजना के अनुसार इसका संचालन जिला स्वच्छता मिशन लखनऊ शिक्षा विभाग स्वास्थ्य विभाग ग्रामीण विकास विभाग तथा पंचायती राज विभाग के सहयोग से किया जा रहा है |



(फोटो- शौचालय के प्रयोग करने पर्यावरण स्वच्छता से संबंधित तकनीकी गुणवत्ता की जानकारी देते हुए )


यह जानकारी संयुक्त रूप से खंड विकास अधिकारी भानु प्रताप सिंह तथा वात्सल्य परियोजना समन्वयक सौरव सिंह ने शुक्रवार को दी उन्होंने बताया कि इस को जागरूकता से जुड़े इस कार्यक्रम को बतौर मॉडल 10 ग्राम पंचायतों में आरंभ किया गया है,इसके सकारात्मक परिणाम आने के बाद अन्य ग्राम पंचायतों में भी इसका आयोजन किया जाएगा |



परियोजना समन्वयक सौरव सिंह के द्वारा बताया गया कि ऑडियो क्लीनिक के आयोजन से पूर्व सभी सचिवों का एक दिवसीय कार्यक्रम एक दिवसीय कार्यक्रम में उनकी क्षमता कार्यक्रम की प्रक्रियाओं के बारे में विकसित की गई तथा कार्य योजना बनाई गई ग्राम पंचायत में प्रत्येक परिवार को शौचालय हेल्थ कार्ड संस्था के द्वारा घरों में उपलब्ध कराया गया जिसमें 20 मुद्दों पर उनके शौचालय का आकलन किया जाता है | 


अब तक सात पंचायतों में इसका आयोजन किया जा चुका है जिसमें 500 परिवारों से ज्यादा को परामर्श दिया जा चुका है जिसमें लोगों ने माना कि शौचालय के लगातार प्रयोग से 40% तक की बीमारियों को कम किया जा सकता है