तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को नए साल पर मिलेगी छह हजार पेंशन की सौगात


लखनऊ. 


आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक होगी। नए साल के मौके पर तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को योगी सरकार छह हजार रुपए सालाना तोहफा देने की सौगात दे सकती है। इसके अलावा सिख विरोधी दंगों की जांच के लिए गठित एसआईटी को पुलिस थाने में बदलने और दिवंत स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के अंतिम संस्कार के लिए दिए जाने वाले अनुदान में बढ़ोत्तरी समेत कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लग सकती है।


साल 1984 में कानपुर में सिख विरोधी दंगे के लिए पंजीकृत मुकदमों की विवेचना के लिए 5 फरवरी 2019 को विशेष जांच दल का गठन किया गया था। गृह विभाग ने इसे पुलिस थाना के रुप में कार्य करने का प्रस्ताव दिया है। 


10000 महिलाओं को मिलेगी सौगात
अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मोहसिन रजा ने बताया कि, करीब 5 हजार तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को चिन्हित किया गया है। तीन तलाक मुस्लिम इन पीड़ित महिलाओं समेत अन्य धर्मों की पांच हजार तलाक पीड़ितों को सालाना 6000 रूपए की मदद मिलेगी। कुल दस हजार महिलाओं को पेंशन के लिए चयनित किया गया है। ये रुपए तिमाही दिए जाएंगे या फिर हर महीने 500 रूपए, ये नीतिगत फैसला है, जिस पर कैबिनेट चर्चा कर रणनीति तय करेगी।