PNB के साथ एक और धोखाधड़ी ,जगदीश खट्टर के खिलाफ शिकायत दर्ज

नई दिल्ली

 

पंजाब नैशनल बैंक (PNB) लगातार धोखाधड़ी का शिकार हो रहा है। 2018 के बाद से अब तक बैंक के साथ तीन बार धोखाधड़ी का मामला हो चुका है। सबसे पहले नीरव मोदी का मामला उजागर हुआ था जिसनें बैंक को करीब 14 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाया था। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएनबी ने अक्टूबर महीने में जगदीश खट्टर के खिलाफ 110 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराया है। जगदीश खट्टर कार्नेशन ऑटो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के फाउंडर हैं। यह एक वीइकल रिपेयर ऐंड सर्विस कंपनी है।

 

PNB पर कर्ज का भारी बोझ

 

पंजाब नैशनल बैंक पर कर्ज का भारी बोझ है और यह बुरे दौर से गुजर रहा है। बैंक ने जुलाई के महीने में भी फ्रॉड की शिकायत की थी। ताजा शिकायत में कहा गया है कि मारुति सुजुकी के पूर्व डायरेक्टर जगदीश खट्टर ने बैंक के कुछ अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर बैंक को धोखा दिया है। खट्टर ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर कहा कि कार्नेशन एक बिजनस फेलियर था। उन्होंने जान बूझकर बैंक को ठगने की कोशिश नहीं की है। हमारी सघन ऑडिट की जा चुकी है। जांच में कुछ भी गलत नहीं पाया गया।

2012 से अकाउंट बैड लोन कैटिगरी में

 

बैंक की शिकायत में कहा गया है कि कार्नेशन अकाउंटर 30 जून 2012 से बैड लोन कैटिगरी के अंतर्गत आता है। सितंबर में PNB का बैड लोन रेशियो बढ़कर 16.80 फीसदी पर पहुंच गया जो जून के महीने में 16.50 फीसदी था। जानकारी के लिए बता दें कि 2018 में महिन्द्रा ऐंड महिन्द्रा ने कार्निशन के असेट्स को खरीदा था।

जुलाई में 3800 करोड़ फ्रॉड की शिकायत

 

पंजाब नैशनल बैंक ने भूषण पावर ऐंड स्टील लिमिटेड के खिलाफ जुलाई महीने में 3800 करोड़ रुपये के फ्रॉड की शिकायत दर्ज कराया था। उससे पहले नीरव मोदी ने बैंक के साथ करीब 14000 करोड़ रुपये का फ्रॉड किया था।