मेरठ एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह के समर्थन में उतरे उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य


लखनऊ. 


मेरठ के एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह के वायरल वीडियो पर मचे हंगामे के बीच उप्र के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने उनके उस बयान का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने उपद्रवियों को पाकिस्तान चले जाने की भी नसीहत दी थी। वीडियो सामने आते ही इस मुद्दे ने तूल पकड़ा और विपक्षी दल के नेताओं ने यूपी पुलिस और केंद्र व राज्य सरकार पर जमकर हमला बोलना शुरू कर दिया है।




उप्र के उपमुख्यमंत्री ने पूरे मामले को लेकर कहा कि मेरठ एसपी का बयान सभी मुसलमानों के लिए नहीं था। यह उन लोगों के लिए था जो हिंसा के दौरान पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे और पथराव कर रहे थे। कोई भी यदि इस तरह की गतिविधियों में शामिल होता है, जो उस लिहाज से एसपी सिटी का बयान गलत नहीं है।


केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने की थी कार्रवाई की मांग


वीडियो सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, 'अगर वीडियो में दिख रहे एसपी का बयान सही है तो ये निंदनीय है। उनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। हिंसा किसी भी तरह से चाहें वो पुलिस के द्वारा हो या फिर भीड़ के द्वारा, अस्वीकार है। ये एक लोकतांत्रिक देश का हिस्सा नहीं हो सकता। पुलिस को ये सुनिश्चित करना चाहिए कि कोई निर्दोष इस कार्रवाई का शिकार न हो।'


यह है मामला


दरसअल वायरल हो रहा वीडियो 20 दिसंबर का है। उस समय उप्र के कई हिस्सों में नागरिकता कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन हुए थे। मेरठ के एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह पुलिस टीम के साथ पेट्रोलिंग कर रहे थे। वायरल वीडियो में वह कह रहे हैं, 'जो काली पट्टी और पीली पट्टी बांध रहे हो, बता रहा हूं. उनसे कह दो पाकिस्तान चले जाएं। फ्यूचर काला होने में लगेगा सेकेंड भर, एक सेकेंड में सब काला हो जाएगा। देश में नहीं रहने का मन है, चले जाओ भैया। खाओगे यहां, गाओगे कहीं और का।