गरीबी सबसे बड़ा अभिशाप मंजीत

अमेठी


हरिकेश यादव -संवाददाता( इंडेविन टाइम्स)


पुरानी पेंशन के लिए  सरकार से हमेशा दो-दो हाथ करने को तैयार अटेवा जिलाध्यछ मंजीत यादव ने त्रिसुन्डी स्थित इन्डैन गैस प्लान्ट के पास बनी मजदूरों की झोपड़ी में बच्चों को कापी पेन्सिल व कपड़े वितरत किये गये। आज  के समय में गरीबी समाज का सबसे बड़ा अभिशाप है ।



( फोटो -कॉपी पेंसिल पाकर बच्चों के खिले चेहरे )


कागजों पर लोग कई वर्षो से समाज में मूलभूत आवश्कताओं से वंचित वर्ग के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करते रहे है जबकि हकीकत उससे परे होती है। अटेवा अमेठी के जिलाध्यक्ष मंजीत यादव  ने मजदूरों के समस्याओ  को संज्ञान में लेकर उनके बीच में जन्मी नवजात बच्ची को टीका लगवाकर और उसे ठन्ड से निजात के लिए पुराने  गर्म कपड़े,तौलिया व कम्बल दिया गया और   बच्चों को टाफी , कापी व पेन्सिल देकर पढ़ने के लिए प्रेरित किया गया ।


जो बच्चें 6 से 14 वर्ष के है उनका नामांकन अतिशीघ्र निकट प्राथमिक विद्यालय मे कराया जायेगा और जो श्रमिक का काम  कर रहे है उनके आधार कार्ड लेकर श्रम विभाग में पंजीकरण कराकर उन्हें सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता से समाज के मुख्य धारा मे जोड़ने का प्रयास जायेगा ।