अलीगढ़- पुलिस ने प्रदर्शन को लीड करने वाले 12 उपद्रवियों को चिन्हित किया


अलीगढ़. 


जिले में 15 दिसंबर को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के छात्रों द्वारा किए गए बवाल  के बाद अब पुलिस ने 12 ऐसे छात्रों को चिन्हित किया जो पूरे बवाल में मुख्य साजिशकर्ता थे। पुलिस ने एएमयू प्रशासन को पत्र भेजकर इनके बारे में जानकारी दी है। पुलिस ने कहा है कि इनके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए। वहीं इससे पहले उपद्रव को लेकर एएमयू के 1 हजार छात्रों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था।


अलीगढ़ पुलिस ने इन सजोशकर्ताओं के नाम एएमयू प्रशासन को भेजकर कहा है कि वह अपने स्तर से इन छात्रों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही करें। पुलिस ने कहा है कि जो भूतपूर्व छात्र है और जिन पर कई मुकदमें है व इस बवाल में जो शामिल थे उनके खिलाफ गुंडा एक्ट के तहत हम लोग कार्रवाई कर रहे हैं।


एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि 15 दिसम्बर को हुए प्रदर्शन के दौरान उपद्रवियों को लीड करने वाले 12 लोगों को चिन्हित किया गया है। इनके खिलाफ कार्रवाई को लेकर एएमयू प्रशासन को पत्र लिखा गया है। ये ऐसे लोग हैं जो पूरे प्रदर्शन को लीड कर रहे थे। इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


एएमयू के 1000 छात्रों पर दर्ज हुआ था केस


उत्तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में 15 दिसम्बर को हुए प्रदर्शनों में सरकारी संपत्ति को भारी नुकसान हुआ, जिसकी भरपाई के लिए आरएएफ कमांडेंट ने 1 हजार अज्ञात छात्रों पर केस दर्ज करवाया है। शिकायत में आरएएफ ने प्रदर्शन में हुए नुकसान का भी उल्लेख किया है।


कमांडेंट ने अज्ञात आरोपियों पर सरकारी कार्य में बाधा डालने, 144 का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। दरअसल, डीएम के निर्देश पर वहां रेपिड एक्शन फोर्स की दो कंपनियां वहां तैनात थीं। इसी बीच उपद्रवियों और छात्रों की भीड़ ने हमला कर दिया था। काफी प्रयास के बावजूद जब लोग नहीं माने, तो उन पर बल प्रयोग करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े गए थे।