अखिलेश यादव का मुख्यमंत्री योगी पर तंज -'मुख्यमंत्री डरे हुए हैं, अपनी कुर्सी बचाने के लिए उत्तर प्रदेश में उत्पात मचवा रहे'


लखनऊ. 


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सीएम अपनी कुर्सी बचाने के लिए ही राज्य में उत्पात मचवा रहे हैं। उनके खिलाफ 200 भाजपा विधायक धरने पर बैठ गए जिसके बाद से ही वह डरे हुए हैं कि कहीं उनकी कुर्सी न चली जाए।






पूर्व सीएम यादव यहां सपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान उनके अपने विधायक जिनकी संख्या लगभग 200 थी, धरने पर बैठ गए। असंतुष्टों की संख्या इससे भी ज्यादा है। उनसे नाराज विधायक सभी लोगों के सम्पर्क में हैं। उत्तर प्रदेश में उत्पात इसीलिए मचाया जा रहा है ताकि रोजगार और निवेश पर चर्चा न हो। 


सीएए और एनआरसी आम लोगों के खिलाफ


अखिलेश ने कहा कि सीएए और एनआरसी से किसी का भला नहीं होगा। यह आम लोगों के खिलाफ है। हिंसा के दौरान मारे गए लोगों की मदद सरकार को करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों से 50 साल पुराने कागजात मांगे जा रहे हैं, लोग कहां से लाएंगे। उन्होंने कहा कि देश में भाजपा इतिहास बनाकर ही जाएगी, लेकिन वह इतिहास आर्थिक विकास की मंदी का होगा। आने वाले समय में भाजपा में ऐतिहासिक गिरावट देखी जाएगी।


अटलजी की प्रतिमा के बहाने भाजपा पर तंज


लोकभवन में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा लगवाने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि अटलजी को लेकर सबके मन में सम्मान है। वह बहुत बड़े नेता थे। लेकिन भाजपा के लोगों के मन में अटलजी को लेकर इतना ही सम्मान है कि प्रतिमा भी लगवाई तो जनेश्वर मिश्र से छोटी। अब इतने से आप सबकुछ समझ लीजिए। 


एनपीआर के खिलाफ खोला मोर्चा


अखिलेश यादव ने नेशनल पापुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने ऐलान किया है कि न तो वे खुद और न ही कोई सपा का कार्यकर्ता इस रजिस्टर को भरेगा। समाजवादी छात्रसभा की बैठक के बाद उन्होंने कहा, "आज खुशी का दिन है। बड़ी संख्या में नौजवान यहां उपस्थित हैं। छात्रसंघ चुनाव जीतने वाले सभी नौजवानों को बधाई। भाजपा के लोगों ने नौजवानों को घेरा और तोड़फोड़ की। नौजवानों को पीटने वाले और एसओ को पीटने वालों पर कार्रवाई नहीं हुई। 


अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री जब मुकदमे वापस ले रहे हैं, तो आपके मुकदमे सरकार आते ही वापस होंगे। समाजवादी कार्यकर्ताओं पर दर्ज हो रहे सब मुक़दमे वापस होंगे।