64वें अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस पर रैली व कैंडिल मार्च निकाला गया

 


अमेठी | 


हरिकेश यादव -संवाददाता ( इंडेविन टाइम्स)


भारत के संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को आज उनकी परिनिर्वाण दिवस पर क्षेत्रवासियों द्वारा याद किया गया इसके उपरांत कैंडल मार्च निकाला गया।



(फोटो - भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए )


संविधान निर्माता के परिनिर्वाण दिवस पर जनपद अमेठी में भीम आर्मी भारत एकता मिशन अमेठी व राजकीय अनुसूचित जाति जनजाति छात्रावास अमेठी के स्टाफ द्वारा भीमराव अंबेडकर चौराहे पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया इसके उपरांत लोगों द्वारा कैंडल मार्च निकाला गया।


यह जुलूस अंबेडकर चौराहे से बस स्टेशन अमेठी ,गांधी चौक ,तहसील गेट अमेठी से होता हुए सदन सदन तिराहे पर पर समाप्त हुआ। इस दौरान लोग ' बाबा साहब अमर रहे ' के नारे लगाते रहे | बैनर पर ' क्रोध को प्रेम से और तलवार को कलम से जीतना चाहिए ' -जैसे स्लोगन लिखे हुए थे। इसके पूर्व भीम आर्मी संस्थापक के कार्यकर्ता व बहुजन आर्मी के लोगों ने भादर ब्लाक के जनता नगर में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को अराजक तत्वों द्वारा तोड़ दिए जाने  पर गहरी नाराजगी व्यक्त की जिससे लोगों को गहरा आघात लगा है। अराजक तत्वों ने  मूर्ति तोड़कर  भारतीय संविधान  निर्माता को क्षति पहुंचाई है।  इसके लिए उन्हें  किसी भी कीमत पर माफ नहीं किया जा सकता । उनका यह कृत्य सभ्य समाज के लिए असहनीय है।



(फोटो - 64वें अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस पर रैली का आयोजन )



(फोटो - 64वें अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस पर कैंडल मार्च निकाला गया )