सीएम योगी ने गोरखपुर के पिपराइच में नई चीनी मिल का लोकार्पण , 85 सौ लोगों को मिलेगा रोजगार


गोरखपुर. 


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखपुर के पिपराइच में नई चीनी मिल का लोकार्पण और पेराई सत्र का शुभारंभ किया। इस चीनी मिल की स्थापना कई साल से बंद पड़ी राज्य चीनी निगम की पिपराइच इकाई के स्थान पर की गई है। इस मौके पर सीएम योगी ने कहा- जिस चीनी मिल को पिछली सरकार ने बंद कर दिया गया था। हमारी सरकार ने उन्हें नए सिरे से चलाया है। अब यहां आठ हजार कुंतल के बजाय 50 हजार कुंतल गन्ने की पेराई प्रतिदिन होगी। 27 मेगावाट बिजली का उत्पादन भी होगा।


सीएम योगी ने कहा- पहले की सरकारों में लोगों को जाति-मजहब के आधार पर बांटने का काम किया जाता था। मोदीजी ने 2014 में सबका साथ और सबके विकास का नारा दिया और उसे साकार किया। सरकार ने किसानों की आय बढ़े और न्यूनतम समर्थन मूल्य के आधार पर डेढ गुना मूल्य दिलाने की व्यवस्था की है। 


अब यहां रवि किशन को करनी चाहिए शूटिंग


सीएम योगी ने कहा- 1991 से अब तक सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। लल्लन त्रिपाठी जी विधायक थे। उन्होंने इसे चलाने का प्रयास किया। लेकिन ऐसा नहीं हो सका। मोदी जी ने 26 वर्ष से बंद कारखाने को शुरू करने के संकल्प को पूरा किया। लोग हताश निराश हो चुके थे। यहां प्राकृतिक झील थी। जिसमें सीवेज और ड्रेनेज गिरता था। आज ऐसा हो गया है कि सांसद रविकिशन को वहां शूटिंग करनी चाहिए। सहजनवां विधायक शीतल पांडेय को हीरो बनाना चाहिए। 


संकल्प लें, नहीं जलाएंगे पराली


सीएम ने कहा- पिछली सरकारों में 6-6 साल तक गन्ना मूल्य बकाया था। लेकिन मंदी में 76 हजार करोड़ गन्ना मूल्य का भुगतान किया। लोग आश्चर्य करते हैं। पहले बिजली नहीं थी। आज बिजली, सड़क, शासन की योजनाओं को लोगों तक पहुंचा रहे हैं। पिछले 15 दिनों से स्मॉग का मामला उठा हुआ है। असमय लोग मर रहे हैं। इसे रोकने की आवश्यकता है। किसान संकल्प लें कि वे खेतों में पराली नहीं जलाएंगे। गन्ने की पत्तियों का खाद बनाएंगे। ये संकल्प लें। कहा- जलजमाव और गंदगी नहीं होगी तो डेंगू नहीं होगा। इंसेफेलाइटिस पर गोरखपुर-बस्ती मंडल में 90 फीसदी काबू पा लिया गया है। 


8500 लोगों को मिलेगा रोजगार
गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा ने बताया कि नई चीनी मिल की गन्ना पेराई क्षमता 50 हजार कुंतल प्रतिदिन है। इसे 75 हजार क्विंटल प्रतिदिन तक विस्तारित किया जा सकता है। चीनी मिल में 27 मेगावट का विद्युत उत्पादन संयत्र भी लगाया गया है। मौजूदा पेराई सत्र 2019-20 में इस मिल को पूरी क्षमता से चलाया जाएगा। इससे मिल क्षेत्र के लगभग 30 हजार किसानों को गन्ना आपूर्ति करने में सुविधा होगी। मिल में 60 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई और 6.25 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन का अनुमान है। पिपराइच चीनी मिल की स्थापना से लगभग 8500 लोगों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा।