सहेली के घर लगाई मेहंदी, पिता ने लव मैरिज समझकर उतारा मौत के घाट


बुलंदशहर


महज 21 साल की कुसुम अपनी  सहेली के यहां एक शादी समारोह में गई थी। मजाक में सहेलियों ने मेहंदी और हल्दी लगा दी। बस यही मेहंदी और हल्दी युवती की मौत की वजह बन गई। पिता ने समझा बेटी ने लव मैरिज की है। पूछा भी नहीं और गुस्से में बेटी का गला दबाकर हत्या कर दी। फिर बेटे को बुलाया और मौका देखकर गुलावठी थाना क्षेत्र के जंगल में फेंक आया। 5 नवंबर को पुलिस को शव मिला। शव के बारे में सोशल मीडिया के जरिए एक क्लू मिला। पुलिस ने युवती के पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरे घटनाक्रम का सोमवार को खुलासा हो गया। आरोपित का बेटा अभी फरार है।


गुलावठी कोतवाली प्रभारी योगेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस के लिए शव की शिनाख्त करना बड़ा चैलेंज था। आसपास के लोग कुछ बता नहीं पा रहे थे। सोशल मीडिया का सहारा लिया गया। शव की फोटो देखकर एक व्यक्ति ने कॉल कर लोहगला निवासी कुसुम (21) के तौर पर शिनाख्त की। कुसुम के पिता रामजी लाल को ढूंढते हुए उनके घर पहुंची तो उन्होंने बेटी के लापता होने की पुष्टि की। परिवारीजनों को युवती के कपड़े और फोटो दिखाए गए तो उन्होंने शिनाख्त कर ली। रामजी से बातचीत के दौरान पुलिस को संदेह हुआ तो उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। सख्ती हुई तो उसने पूरी कहानी बयां कर दी।


गुलावठी कोतवाली पुलिस ने 5 नवंबर को मिले शव की शिनाख्त होने के बाद वारदात का खुलासा किया है। पिता अपनी बेटी के चाल-चलन पर संदेह करता था। बस इसी वजह से उसने हत्या कर दी। आरोपित को जेल भेज दिया गया है।