रायबरेली की सदर विधायक अदिति सिंह पंजाब के एमएलए अंगद के साथ लेंगी 7 फेरे


रायबरेली.


सदर सीट से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह और पंजाब के शहीद भगत नगर से विधायक अंगद सिंह शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं। अदिति सिंह उस समय चर्चा में आई थीं, जब राहुल गांधी के साथ उनकी शादी की खबरें फैली थीं। जिसके बाद अदिति सिंह ने खंडन किया और राहुल गांधी को अपना भाई बताया। साथ ही यह भी कहा था कि, राहुल उनके भाई जैसे हैं, वो उन्हें राखी बांधती हैं।


अदिति सिंह ने अमेरिका के ड्यूक यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। जबकि इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई दिल्ली से की थी। इसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए अदिति अमेरिका चली गई थीं। 21 नवंबर को नई दिल्ली में विधायक अंगद से उनकी शादी होगी। दो दिन बाद 25 नवंबर को नवांशहर में राहों रोड स्थित दोआबा आर्य स्कूल मैदान में रिसेप्शन पार्टी होगी। अंगद और अदिति 2017 में कांग्रेस की टिकट पर विधायक बने। दोनों राजनीतिक परिवारों से आते हैं।


अदिति उत्तर प्रदेश में सबसे युवा विधायकों में से एक हैं। पिछले दिनों वह कांग्रेस से बागी तेवर के कारण चर्चा में थीं। कांग्रेसी सूत्रों की माने तो 21 नवंबर को शादी वाले दिन सिर्फ परिवार के लोग शामिल होंगे, जबकि 25 की रिसेप्शन पार्टी में कांग्रेस के छोटे से लेकर बड़े वर्कर तक को आमंत्रित किया जा रहा है। हालांकि, अभी किसी वर्कर तक कार्ड नहीं पहुंचा है। लेकिन, ग्राउंड में रिसेप्शन पार्टी किए जाने से स्पष्ट है कि पार्टी बड़े स्तर पर ही होगी।


बताया जा रहा है 23 नवंबर को भी एक पार्टी होगी जोकि दिल्ली या चंडीगढ़ में होगी। इस पार्टी में राज्य के बड़े नेता व ब्यूरोक्रेट्स को आमंत्रित किया जाएगा, जबकि 25 की पार्टी में जिले के सभी छोटे से बड़े नेताओं और पार्टी वर्करों को आमंत्रित किया जा रहा है। यह जानकारी अंगद सिंह के पारिवारिक सदस्य एडवोकेट कलाधर दीवान ने दी है।


जानिए अदिति के होने वाले पति अंगद को?


अंगद ने 2017 में अपनी राजनीति की शुरूआत की और शहीद भगत नगर क्षेत्र से जीत हासिल की। युवा विधायक अंगद स्वर्गीय दिलबाग सिंह के परिवार से हैं, जिन्होंने रिकॉर्ड छह बार नवांशहर सीट जीती। इसी तरह, अदिति सिंह उत्तर प्रदेश में सबसे युवा विधायकों में से एक हैं, जिन्होंने 2017 में 90 हजार अधिक वोटों के साथ रायबरेली सदर सीट हासिल की थी। उनके पिता अखिलेश सिंह ने पांच बार इस सीट पर कब्जा जमा रखा था। उनका देहांत हो चुका है।