राम मनोहर लोहिया यूनिवर्सिटी का नया कारनामा, 1200 था पूर्णांक और दे दिए 1209 नंबर


अयोध्या


अयोध्या स्थित राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय का एक नया कारनामा मीडिया के सामने आया है। विश्वविद्यालय द्वारा एमएड की एक छात्रा को 1200 के पूर्णांक में 1209 अंक मिले हैं। इतना ही नहीं, महाविद्यालय की तरफ से उक्त छात्रा को एक प्रमाणित अंकपत्र भी जारी कर दिया गया है। जिस छात्रा के अंकपत्र में यह गड़बड़ी सामने आई है, वह कादीपुर स्थित संत तुलसीदास पीजी कालेज से एमएड कर रही है।


कादीपुर का यह कॉलेज डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या से संबद्ध है। छात्रा महिमा द्विवेदी को जो अंक पत्र दिया गया है उसके अनुसार उसे एमएड प्रथम वर्ष में कुल 600 अंकों में 761 अंक मिले हैं। जबकि द्वितीय वर्ष के 600 पूर्णांक में 448 अंक दिए गए हैं। दोनों वर्षों को मिलाकर कुल 12 सौ के पूर्णांक में छात्रा को 1209 अंक मिले हैं। यूनिवर्सिटी की ओर से जो अंक पत्र महाविद्यालय भेजा गया, उसे कॉलेज ने बिना देखे प्रमाणित कर छात्रा को सौंप दिया।

जिम्मेदार लोगों को भी नहीं पता चली गड़बड़ी
इस दौरान न तो विश्वविद्यालय और ना ही संबंधित कॉलेज के जिम्मेदार लोगों की नजर इस पर पड़ी। इस संबंध में संत तुलसीदास पीजी कालेज के प्राचार्य जितेन्द्र तिवारी ने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से ही मुझे भी इस प्रकरण की जानकारी मिली है। एक साथ विश्वविद्यालय से कई अंकपंत्र आते है ऐसे में कई बार हस्ताक्षर के समय सभी को चेक कर पाना संभव नहीं हो पाता। विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक उमानाथ ने कहा है कि छात्रा के अंकपत्र में सुधार कराकर इसकी दूसरी प्रति छात्रा तक पहुंचाई जाएगी और इसके लिए निर्देश दे दिए गए हैं।