प्रदूषण पर होने वाली बैठक में गैरमौजूदगी के लिए सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए गंभीर ,लापता होने के लगे पोस्टर्स

 



दिल्ली-


पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं होने के बाद से लगातार आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं। रविवार को दिल्ली में गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर लगाए गए। इन पोस्टरों पर लिखा था क्या आपने इन्हें कहीं देखा है? आखिरी बार इंदौर में जलेबी खाते ही देखा गया था। पूरी दिल्ली इन्हें ढूंढ रही है।


गंभीर बीते हफ्ते इंदौर में चल रहे टेस्ट मैच की कमेंट्री के लिए आए थे। शुक्रवार को वीवीएस लक्ष्मण ने जतिन सप्रू और गंभीर के साथ पोहा और जलेबी का नाश्ता करते हुए तस्वीर ट्वीट की थी। इसके बाद गंभीर को यूजर्स ने ट्रोल किया था। आप समेत अन्य विपक्षी पार्टियों ने गंभीर की आलोचना की थी।


विवाद बढ़ने के बाद गंभीर ने ट्वीट किया कि अगर मुझे गाली देने से दिल्ली का प्रदूषण कम होगा तो आप मुझे जी भरकर गाली दिजिए। मेरे संसदीय क्षेत्र और शहर के प्रति प्रतिबद्धताओं को वहां हो रहे काम से आंका जाना चाहिए। मैंने पिछले 6 महीने में मेरे मतदाताओ को सर्वश्रेष्ठ देने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी। गंभीर ने अपने कार्यकाल के दौरान किए गए विभिन्न कार्यों का ब्यौरा भी ट्विटर पर साझा किया था।


प्रदूषण पर होने वाली बैठक टाली गई


दिल्ली में दिवाली के बाद से ही प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया है। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को इसका समाधान करने का निर्देश दिया है। प्रदूषण के मुद्दे पर सरकार, कई प्राधिकरणों और जनप्रतिनिधियों की बैठक 15 नवम्बर को होनी थी। बैठक के पैनल में गंभीर समेत 29 सदस्यों को नामित किया गया था, जबकि केवल 4 सदस्य ही बैठक में पहुंचे। दिल्ली के तीन नगर निगमों के आयुक्त भी नहीं पहुंचे। इसके बाद बैठक टाल दी गई। आप ने इस अनुपस्थिति को सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का मामला बताया था।