पाकिस्तान ने भारत के साथ डाक सेवा की बहाल, अनुच्छेद 370 हटाने के विरोध में किया था बंद


पाकिस्तान ने अपनी गलती में सुधार करते हुए  तीन महीने निलंबित रखने के बाद भारत के साथ डाक सेवा फिर से बहाल कर दी है। भारत द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के निर्णय के मद्देनजर पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच डाक सेवा निलंबित कर दी थी। 


भारत द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वापस लेने के लिए संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव उत्पन्न हो गया था।


पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार भारत के साथ डाक मेल सेवा बहाल हो गई है लेकिन पार्सल सेवा निलंबित रहेगी।


कोई आधिकारिक घोषणा नहीं
हालांकि, भारत के साथ सीमित डाक सेवा बहाली के बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। पाकिस्तान ने 27 अगस्त के बाद से भारत से कोई डाक खेप स्वीकार नहीं की थी। इस कदम को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के जवाब के तौर पर देखा जा रहा था।


संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गत अक्टूबर में कहा था कि पाकिस्तान ने डाक सेवा एकतरफा बंद की और उसने ऐसा भारत को कोई पूर्व नोटिस दिए बिना किया।


प्रसाद ने कहा था, पाकिस्तान का निर्णय विश्व डाक यूनियन के नियमों के बिल्कुल विपरीत है। डाकसेवा पूर्व में बंटवारे, युद्धों और सीमापार तनावों के बीच भी जारी रही थी।