मंत्री स्वाति सिंह के समर्थन में उतरे बीजेपी एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह , सीएम योगी को लिखा खत


लखनऊ


उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री स्वाति सिंह के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह उतर आए हैं. देवेंद्र प्रताप सिंह ने लखनऊ कैंट की क्षेत्राधिकारी बीनू सिंह को निलंबित करने मांग की. एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खत लिखकर मंत्री स्वाति सिंह की वायरल बातचीत को सही ठहराया.


उन्होंने कहा कि कोई भी जनप्रतिनिधि या मंत्री जनसमस्याओं के समाधान के लिए किसी अधिकारी से याचक भाव में बात नहीं कर सकता. जनहित में निर्देश देना जनप्रतिनिधि का विधायी अधिकार है. स्वाति सिंह ने ऐसा कुछ नहीं कहा जो संसदीय गरिमा के विपरीत हो. बल्कि अधिकारी ने मंत्री से हुई बातचीत को स्वयं वायरल कर प्रशासनिक सेवा नियमावली का उल्लंघन किया है.


स्वाति सिंह के समर्थन में सिर्फ बीजेपी के नेता ही नहीं उतरे, बल्कि विरोधी पार्टी के नेता ने भी उनका समर्थन किया. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने स्वाति सिंह का बचाव किया. शिवपाल ने कहा कि इस बात को हम तूल नहीं देंगे. लोकतंत्र में जनप्रतिनिधि ऊपर है. उससे भी ऊपर मंत्री है. वह प्रोटोकॉल में है. उन्होंने कहा कि मंत्री तो अधिकारी को हड़का ही सकता है.


क्या है पूरा मामला


बीते दिन लखनऊ कैंट की सीओ डॉ. बीनू सिंह को धमकी देने के मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्री स्वाति सिंह को तलब किया था, साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने डीजीपी से पूरे मामले की रिपोर्ट भी मांगी.


वायरल ऑडियों में मंत्री स्वाति सिंह सीओ डॉ. बीनू सिंह को धमकाते हुए सुनाई दे रही हैं. ऑडियो वायरल होने पर सीएम योगी ने स्वाति सिंह को फटकार लगाई और मंत्री के व्यवहार पर नाराजगी भी जताई.