जेएनयू छात्रों का संसद मार्च, पुलिस ने रोका, 3 मैट्रो स्टेशन बंद किए


नई दिल्ली.


दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में फीस बढ़ाए जाने को लेकर छात्रों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है. सरकार के इस फैसले के खिलाफ छात्रों का संसद भवन की ओर मार्च शुरू हो गया है. इस मार्च में करीब दो से तीन हजार छात्र शामिल हैं.


इसे देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने संसद भवन के आसपास के मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया है. दिल्ली पुलिस की सलाह के बाद उद्योग भवन और पटेल चौक पर ट्रेनें नहीं रुक रही हैं. साथ ही उद्योग भवन, पटेल चौक और केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों के अंदर और बाहर जाने वाले रास्तों को अस्थाई तौर पर बंद कर दिया गया है.


JNU मार्च के चलते दिल्ली पुलिस ने एडवाइजरी जारी कर कहा है कि लोक कल्याण मार्ग मेट्रो स्टेशन, उद्योग भवन, केंद्रीय सचिवालय, पटेल चौक स्टेशन पर गेट बंद रहेंगे.


कई एरिया में हैवी ट्रैफिक के चलते जाम


JNU छात्रों के प्रदर्शन के चलते दिल्ली के कई इलाकों में ट्रैफिक प्रभावित है. मोती बाग, हयात होटल, एम्स सफदरजंग रोड और अरबिंदो मार्ग पर हैवी ट्रैफिक के चलते जाम लग गया है. वहीं, प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए बोट क्लब चौकी, कृष्ण मेनन मार्ग और राजाजी मार्ग के पास भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.



दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फोर्स लगाई है


बता दें कि जेएनयू छात्र बढ़ी हॉस्टल फीस के विरोध में जेएनयू से संसद तक मार्च निकाल रहे हैं. सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फोर्स लगाई है, जिसमें पैरा मिलिट्री फोर्स शामिल है. इधर, छात्र संघ का दावा है कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी ने पब्लिक फंडेड एजुकेशन के दरवाजे विदेशी और कॉर्पोरेट शिक्षा के लिए बंद कर दिए हैं. क्या इसी वजह से ऐसा हुआ है. 5.7 लाख करोड़ बैड लोन और 4 लाख करोड़ टैक्स रिबेट्स कॉर्पोरेट को दिए गए. लेकिन पब्लिक फंडेड एजुकेशन के लिए कुछ नहीं दिया गया, जिससे छात्रों में नाराजगी है.