इकबाल अंसारी ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक का किया बहिष्कार


अयोध्या/ लखनऊ. 


बाबरी विध्वंस मामले के पक्षकार इकबाल अंसारी ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के नदवा कॉलेज में कल होने वाली ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक का बहिष्कार कर दिया है। इकबाल ने कहा है कि एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते देश में अमन और शांति देते रहे हैं। हम चाहते हैं कि मंदिर मामले पर सुप्रीम कोर्ट का जो फैसला आया है सभी लोग उसका सम्मान करें।


लखनऊ के नदवा कालेज में 17 नवम्बर को आयोजित मुस्लिम पक्षकारों की बैठक का इकबादल अंसारी ने बहिष्कार किया है। बोर्ड के कन्वेयर जफरयाब जिलानी ने सभी मुस्लिम पक्षकारों को लखनऊ में बैठक के लिए आमंत्रित किया था। राम जन्म भूमि मामले पर आए फैसले पर राय लेने के लिए शनिवार को बैठक बुलाई गई है।



ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के कन्वेयर जफरयाब जिलानी की बुलाई गई बैठक पर इकबाल अंसारी ने कहा, '' हम चाहते हैं कि पूरे देश में अमन और शांति रही है और हम इसको आगे नहीं बढ़ाना चाहते। आज कमेटी की मीटिंग बुलाई गई है हम अपने घर पर हैं।''


वहीं, मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब की तबीयत बिगड़ने की वजह से वह नहीं पहुंच सके। उन्होंने अपने प्रतिनिधि को नदवा भेजा है। जमीयत उलमा हिंद की ओर से महफूज उर रहमान नदवा में है। मौजूद स्वर्गीय हाजी अब्दुल अहद के बेटे भी पहुंचे हैं।