एसकेएस मेडिकल कॉलेज में धरना दे रहे थे छात्र, पुलिस ने किया लाठीचार्ज


मथुरा


उत्तर प्रदेश के मथुरा में एसकेएस मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के मनमाने रवैये से परेशान छात्र-छात्राएं कॉलेज के गेट पट धरना दे रहे थे। उनसे मुलाकात के लिए शनिवार को जब कॉलेज के चेयरमेन और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता एस.के. शर्मा पहुंचे तो छात्राओं ने उन्हें घेर लिया और अपनी मांगों को उनके समक्ष रखा। इसी दौरान कॉलेज प्रबंधन और छात्रों के बीच नोंकझोंक हुई। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया। हालांकि, पुलिस ने लाठीचार्ज की बात से इनकार कर रहे हैं।


जानकारी के मुताबिक, एस के शर्मा जब कालेज के अंदर घुसे तो धरना दे रहे कुछ छात्रों ने भी जबरन अंदर घुसने का प्रयास किया, इस दौरान मैनजमेंट के लोगों और छात्रों के बीच नोंकझोंक भी हो गई। आरोप है कि इस दौरान वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने छात्रों पर लाठियां भांजी, जिसमें कई छात्र घायल हो गए। साथी छात्र-छात्राओं ने घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं पुलिस अधिकारी छात्रों पर लाठी चार्ज की बात से इनकार कर रहे हैं।

कॉलेज मैनेजमेंट ने बुला ली थी पुलिस
बता दें कि अधिक फीस वसूलने और दो साल में एक बार परीक्षा होने उसमें भी 98 प्रतिशत छात्र-छात्राओं के फेल हो जाने पर शुक्रवार को गुस्साए छात्र प्रबंधन पर मनमाना रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए धरने पर बैठे थे। पूरे दिन विरोध प्रदर्शन करने और बातचीत के लिए चेयरमैन को बुलाने की उनकी मांग पूरी नहीं हुई। कॉलेज प्रबंधन ने छात्र-छात्राओं के रुख को देखते हुए पुलिस को मौके पर बुला लिया था।

शनिवार को भी छात्र- छात्राओं का धरना चालू रहा। कॉलेज चेयरमैन श्रीकांत शर्मा जब यहां पहुंचे तो छात्राओं ने उन्हें घेर लिया और जमकर खरी-खोटी सुनाई। इस दौरान पुलिस के सामने खुद को घिरा देख बीजेपी नेता बगलें झांकते रहे। किसी तरह छात्र-छात्राओं के बीच से निकलकर चेयरमेन कॉलेज गेट के अंदर घुसे तो एक छात्र ने भी अंदर जाने को कोशिश की। बताया गया है कि कॉलेज प्रबंधन के ही एक शख्स ने उस छात्र को थप्पड़ मार दिया, जिसके बाद मामला एक बार फिर गरमा गया। छात्र-छात्राएं गेट खोलकर जबरन अंदर घुस गए और प्रबंधन के लोगों से नोकझोंक हो गई।

पुलिस ने लाठीचार्ज से किया इनकार

आरोप है कि इस दौरान वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने छात्र-छात्राओं पर लाठी चार्ज कर दिया, जिसमें 3-4 छात्र घायल हो गए। मामले की जानकारी होने पर एसपी ग्रामीण आदित्य शुक्ला भी मौके पर पहुंच गए। साथी छात्रों ने घायलों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया। इस मामले को लेकर जब एसपी देहात आदित्य शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने पुलिस द्वारा छात्रों पर लाठी चार्ज किए जाने की घटना से इनकार करते हुए कहा कि छात्रों और प्रबंधन के लोगों के बीच नोकझोंक हुई है। पुलिस द्वारा कोई लाठीचार्ज छात्र-छात्राओं पर नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि कॉलेज प्रबंधन के लोगों और छात्रों के बीच अब बातचीत चल रही है और शीघ्र ही समाधान हो जाएगा।