भारत और बांग्लादेश के बीच डे-नाइट टेस्ट 22 नवंबर से कोलकाता में ,पिंक गेंदें हुईं तैयार, कोलकाता में दिखेगा जलवा


नई दिल्ली


भारत और बांग्लादेश के बीच दूसरा टेस्ट मैच कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डंस स्टेडियम में होगा। यह टेस्ट डे-नाइट होगा और पिंक गेंद से खेला जाएगा। गेंद विक्रेता कंपनी एसजी ने बताया कि इस मैच के लिए अब तक 120 गुलाबी गेंदें भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को मुहैया कराई जा चुकी हैं। इसमें इंदौर में नेट प्रैक्टिस के लिए गेंदें भी शामिल थीं। यह मैच 22 से 26 नवंबर तक खेला जाना है।

न्यूज एजेंसी, एएनआई ने कुछ तस्वीरें शेयर की हैं, जिसमें पिंक बॉल को बनाते देखा जा सकता है। संसपैरेल्स ग्रीनलैंड्स (SG) की ओर बताया गया कि कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में इस गेंद पर काफी रिसर्च किए हैं और हम पूरे विश्वास के साथ कह सकते हैं कि हमारी गेंदें इंटरनैशनल लेवल की हैं।


एसजी के मार्केटिंग डायरेक्टर पारस आनंद ने एएनआई को बताया, 'एक पिंक गेंद बनाने में 7-8 दिन का समय लगता है। महीनेभर पहले जब बीसीसीआई ने डे-नाइट टेस्ट के लिए इस गेंद की मांग की तभी से हमें इसे बनाने में जुट गए। हमनें बीसीसीआई को कहा कि हमारी गेंदें वर्ल्ड लेवल की हैं। हमने समय दर समय गेंदों को टेस्ट किया है और हम कह सकते हैं कि हमारी गेंदें इंटरनैशनल क्रिकेट की मांग पर पूरी तरह खरी उतरी हैं।'


डे-नाइट टेस्ट के लिए गुलाबी गेंदों से जुड़ी चुनौतियों के बारे में उन्होंने कहा- गेंद एक दिन के पूरे 90 ओवर तक चले यह हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती थी। इस दौरान उसका रंग न जाए, इस पर भी हमने काम किया। बता दें कि भारतीय टीम ने कोलकाता टेस्ट में जो एसजी गेंदें इस्तेमाल होंगी वह उत्तर प्रदेश के मेरठ में बनी हैं।