भारत आर्थिक सुस्ती से नहीं गुजर रहा है , देश की अर्थव्यवस्था सबसे तेजी से बढ़ रही है- केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर


नई दिल्ली



अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए उठाए गए कदमों की बात करते हुए ठाकुर ने कहा कि उद्योगों को टैक्स में छूट दी गई, इसके अलावा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में भी सहूलियतें दी गईं। उन्होंने कहा कि कई बैंकों को बड़ें बैंकों के साथ मर्ज कर दिया गया जिसका उद्देश्य बैंकों को मजबूत करना है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कालेधन के खिलाफ कड़े कदम उठाए हैं और जीएसटी, नोटबंदी की वजह से करदाताओं की संख्या दोगुनी हो गई है।ठाकुर ने नैशनल स्टैटिस्टिकल ऑफिस के आंकड़ों को रखते हुए कहा कि 2014 से 19 तक एवरेज जीडीपी ग्रोथ 7.5 प्रतिशत रही है जो कि जी-20 देशों में सबसे ज्यादा है।


अनुराग ठाकुर ने कहा कि अक्टूबर की वर्ल्ड इकनॉमिक आउटलुक में बताया गया है कि दुनियाभर में आर्थिक सुस्ती है। उन्होंने कहा कि जीडीपी ग्रोथ में कमी आई है, इसके बावजूद भारत की अर्थव्यवस्था सबसे तेजी से विकास कर रही हैा। ठाकुर ने कहा कि देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए निवेश लायक माहौल तैयार किया गया है। देश की अर्थव्यवस्था को साफ सुथरा बनाने के लिए इन्सॉल्वेंसी और बैंकरप्सी कोड लाया गया है।

उन्होंने बताया कि सरकार ने महंगाई को कंट्रोल में रखा और अपनी नीतियों को उदार बनाया। कॉर्पोरेट टैक्स को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया गया। इसके अलावा घेरलू उद्योगों का टैक्स 15 प्रतिशत तक कर दिया गया है जो कि दुनिया में सबसे कम है। उन्होंने यह भी कहा कि 2020 की वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में ईज ऑफ डुइंग बिजनस के मामले में भारत की रैंकिंग में 14 स्थानों का सुधार हुआ है।