आगरा में ऐतिहासिक स्मारकों के सरंक्षण के लिए विश्व धरोहर सप्ताह की हुई शुरुआत


आगरा, 


आगरा में मंगलवार से विश्व विरासत सप्ताह की शुरुआत हुई, जिसके तहत पहले दिन ताजमहल, सिकंदरा, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी के स्मारकों समेत सभी ऐतिहासिक स्थल पर देशी-विदेशी पर्यटकों से कोई प्रवेश नहीं लिया गया। विश्व विरासत सप्ताह का शुभारंभ आयुक्त अनिल कुमार ने सिकंदरा स्मारक से किया। इस अवसर पर कुमार ने कहा कि बच्चों को ऐसे कार्यक्रमों के माध्यम से इतिहास से अवगत कराया जाये, जिससे हमारी अगली पीढ़ी भी इन स्मारकों के महत्व को समझ सकेंगी और उन्हें संरक्षित करने में अपना योगदान देंगी। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न निर्माण शैलियां हैं, जो अनेकता में एकता को प्रदर्शित करती हैं। उन्होंने कहा कि प्रयास करके अन्य स्थलों को भी विश्व धरोहर की श्रेणी में लाया जा सकता है।


अधीक्षण पुरातत्वविद् बसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि देश के 38 स्मारकों को विश्व धरोहर के रूप में मान्यता मिली है। इनकी और संख्या बढ़ाये जाने के लिए विभाग लगातार प्रयासरत है। इस अवसर पर सिकंदरा स्मारक में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें कई स्कूलों के बच्चों ने भाग लिया। विश्व विरासत सप्ताह के दौरान सिकंदरा स्मारक में एक प्रदर्शनी भी लगायी गयी है, जिसमें ऐतिहासिक इमारतों के दुर्लभ चित्रों को प्रदर्शित किया गया है।